Friday, September 2, 2011

मेरी मोहब्बत -my love

after a long time i write a poem of love with urdu words...hope all of you like this...

वही चेहरा वही आँखें वही सूरत निकली
मैंने जो दिल में बसाई थी वही मूरत निकली
तुम आए  तो आँखों को भी यकीं भी  ना हुआ
मेरे ख्वाबों की हर ताबीर  हकीकत निकली



तेरे लिए हर बार यही सोचकर करती हू दुआ
हर दुआ खुदा की रूह से होकर निकले
अपने चेहरे को देखने की लिए जब देखा आइना
मेरे चेहरे पर तेरे अक्स  की चादर निकली

तेरे होने के हर अहसास को छुना चाहू
मै तेरी मोहब्बत  में इस कदर पागल निकली
दूर होकर भी तुझे रूह में महसूस करू
मै मशर्रत (ख़ुशी) से भटकी हुई मुसाफिर निकली

मेरा जिक्र -ऐ -फ़िराक होने लगा है लोगो में (मोहब्बत का जिक्र )
में तेरी रुसवाई -ए-उम्मत की वजह निकली (समाज में बदनामी  )
तुझे चाहकर जेसे छोड़  दिया दुनिया को
में दुनिया के फुरकान से थोडा हटकर निकली (फुरकान -standard -criterion-परिपाटी  )

20 comments:

शालिनी कौशिक said...

कनु जी बहुत खूब आपकी ये प्रतिभा तो अब तक हमसे छिपी थी आज जाने की आप बहुत शानदार ग़ज़ल भी लिखती हैं .आभार उर्दू के नए शब्द देने के लिए.

induravisinghj said...

चलो थोड़ा रूमानी हो जाएं...
सुंदर रचना.

shveta said...

Aah! it's so ramantic! really nice one :)

प्रवीण पाण्डेय said...

हटकर दुनिया की राहों से एक मेरी भी पगडण्डी है।

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

बहुत सुन्दर...!!!

Bhushan said...

दूर हो कर भी तुझे रूह में महसूस करूँ
मैं मसर्रत से भटकी हुई मुसाफिर निकली
क्या बात है!! बात का अंदाज़ नया निकला और खूब कहा है.

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा दिनांक 05-09-2011 को सोमवासरीय चर्चा मंच पर भी होगी। सूचनार्थ

S.N SHUKLA said...

सुन्दर और सार्थक रचना, सुन्दर भावाभिव्यक्ति आभार .

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" said...

behataarin rachna...bahut accha karti hain jokathin urdu ke shabdon ka arth bhi sat mein likh deti hain isse urdu ki bhi jaankari mil jaati hai...badhay ..mere blog per bhi aapka swagaat hai

vidhya said...

bahut sundar rachana
http://bachpankedin-vishy.blogspot.com/
http://sarapyar.blogspot.com/

वन्दना said...

बहुत सुन्दर भावाव्यक्ति।

kanu..... said...

dhnayawad vandana ji,vidhya mishraji,bhushan ji,shukla ji,pandey ji,shveta, shalini ji,mrs singh

chitra said...

nice wordings..

sunbyanyname said...

Very nicely written

DR.MANISH KUMAR MISHRA said...

प्रिय हिंदी ब्लॉगर बंधुओं ,
आप को सूचित करते हुवे हर्ष हो रहा है क़ि आगामी शैक्षणिक वर्ष २०११-२०१२ के दिसम्बर माह में ०९--१० दिसम्बर (शुक्रवार -शनिवार ) को ''हिंदी ब्लागिंग : स्वरूप, व्याप्ति और संभावनाएं '' इस विषय पर दो दिवशीय राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित की जा रही है. विश्विद्यालय अनुदान आयोग द्वारा इस संगोष्ठी को संपोषित किया जा सके इस सन्दर्भ में औपचारिकतायें पूरी की जा चुकी हैं. के.एम्. अग्रवाल महाविद्यालय के हिंदी विभाग द्वारा आयोजन की जिम्मेदारी ली गयी है. महाविद्यालय के प्रबन्धन समिति ने संभावित संगोष्ठी के पूरे खर्च को उठाने की जिम्मेदारी ली है. यदि किसी कारणवश कतिपय संस्थानों से आर्थिक मदद नहीं मिल पाई तो भी यह आयोजन महाविद्यालय अपने खर्च पर करेगा.

संगोष्ठी की तारीख भी निश्चित हो गई है (०९ -१० दिसम्बर२०११ ) संगोष्ठी में आप की सक्रीय सहभागिता जरूरी है. दरअसल संगोष्ठी के दिन उदघाटन समारोह में हिंदी ब्लागगिंग पर एक पुस्तक के लोकार्पण क़ी योजना भी है. आप लोगों द्वारा भेजे गए आलेखों को ही पुस्तकाकार रूप में प्रकाशित किया जायेगा . आप सभी से अनुरोध है क़ि आप अपने आलेख जल्द से जल्द भेजने क़ी कृपा करें . आलेख भेजने की अंतिम तारीख २५ सितम्बर २०११ है. मूल विषय है-''हिंदी ब्लागिंग: स्वरूप,व्याप्ति और संभावनाएं ''
आप इस मूल विषय से जुड़कर अपनी सुविधा के अनुसार उप विषय चुन सकते हैं

जैसे क़ि ----------------
१- हिंदी ब्लागिंग का इतिहास

२- हिंदी ब्लागिंग का प्रारंभिक स्वरूप

३- हिंदी ब्लागिंग और तकनीकी समस्याएँ
४-हिंदी ब्लागिंग और हिंदी साहित्य

५-हिंदी के प्रचार -प्रसार में हिंदी ब्लागिंग का योगदान

६-हिंदी अध्ययन -अध्यापन में ब्लागिंग क़ी उपयोगिता

७- हिंदी टंकण : समस्याएँ और निराकरण
८-हिंदी ब्लागिंग का अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

९-हिंदी के साहित्यिक ब्लॉग
१०-विज्ञानं और प्रोद्योगिकी से सम्बंधित हिंदी ब्लॉग

११- स्त्री विमर्श से सम्बंधित हिंदी ब्लॉग

१२-आदिवासी विमर्श से सम्बंधित हिंदी ब्लॉग

१३-दलित विमर्श से सम्बंधित हिंदी ब्लॉग
१४- मीडिया और समाचारों से सम्बंधित हिंदी ब्लॉग
१५- हिंदी ब्लागिंग के माध्यम से धनोपार्जन

१६-हिंदी ब्लागिंग से जुड़ने के तरीके
१७-हिंदी ब्लागिंग का वर्तमान परिदृश्य
१८- हिंदी ब्लागिंग का भविष्य

१९-हिंदी के श्रेष्ठ ब्लागर

२०-हिंदी तर विषयों से हिंदी ब्लागिंग का सम्बन्ध
२१- विभिन्न साहित्यिक विधाओं से सम्बंधित हिंदी ब्लाग
२२- हिंदी ब्लागिंग में सहायक तकनीकें
२३- हिंदी ब्लागिंग और कॉपी राइट कानून

२४- हिंदी ब्लागिंग और आलोचना
२५-हिंदी ब्लागिंग और साइबर ला
२६-हिंदी ब्लागिंग और आचार संहिता का प्रश्न
२७-हिंदी ब्लागिंग के लिए निर्धारित मूल्यों क़ी आवश्यकता
२८-हिंदी और भारतीय भाषाओं में ब्लागिंग का तुलनात्मक अध्ययन
२९-अंग्रेजी के मुकाबले हिंदी ब्लागिंग क़ी वर्तमान स्थिति

३०-हिंदी साहित्य और भाषा पर ब्लागिंग का प्रभाव

३१- हिंदी ब्लागिंग के माध्यम से रोजगार क़ी संभावनाएं
३२- हिंदी ब्लागिंग से सम्बंधित गजेट /स्वाफ्ट वयेर


३३- हिंदी ब्लाग्स पर उपलब्ध जानकारी कितनी विश्वसनीय ?

३४-हिंदी ब्लागिंग : एक प्रोद्योगिकी सापेक्ष विकास यात्रा

३५- डायरी विधा बनाम हिंदी ब्लागिंग

३६-हिंदी ब्लागिंग और व्यक्तिगत पत्रकारिता

३७-वेब पत्रकारिता में हिंदी ब्लागिंग का स्थान

३८- पत्रकारिता और ब्लागिंग का सम्बन्ध
३९- क्या ब्लागिंग को साहित्यिक विधा माना जा सकता है ?
४०-सामाजिक सरोकारों से जुड़े हिंदी ब्लाग

४१-हिंदी ब्लागिंग और प्रवासी भारतीय


आप सभी के सहयोग क़ी आवश्यकता है . अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें



डॉ. मनीष कुमार मिश्रा
हिंदी विभाग के.एम्. अग्रवाल महाविद्यालय

गांधारी विलेज , पडघा रोड
कल्याण -पश्चिम, ,जिला-ठाणे
pin.421301

महाराष्ट्र
mo-09324790726
manishmuntazir@gmail.com
http://www.onlinehindijournal.blogspot.com/
http://kmagrawalcollege.org/

संजय भास्कर said...

कनु जी आपके शब्दों का चयन कमाल का है
बिल्कुल आपकी कोमल भावनाओं जैसा....!

Vijay Kumar Sappatti said...

पहली बार शायद आया हूँ , आपके ब्लॉग पर , आपकी रचनाये पढकर बहुत अच्छा लगा , और ये कविता तो प्रेम के अहसासों से भरी हुई है .. आपको बधाई !!
आभार
विजय
-----------
कृपया मेरी नयी कविता " फूल, चाय और बारिश " को पढकर अपनी बहुमूल्य राय दिजियेंगा . लिंक है : http://poemsofvijay.blogspot.com/2011/07/blog-post_22.html

Sunil Kumar said...

बहुत खुबसूरत अहसास , अच्छा लगा , बधाई

LAXMI NARAYAN LAHARE said...

सुन्दर प्रस्तुति ...हार्दिक बधाई ...
कोसीर... ग्रामीण मित्र !

Rajendra Raikwar said...

very very very nice......